Monday, 28 January 2019

bahut sataya hai tumne hindi sahayri

भूल जाऊंगा एक दिन वो सारी बातें, 
वो यादें और क्यूँ ना भूलूँ 
 बहुत सताया है तुमने 
 बहुत रुलाया है तुमने 
 जब जरुरत थी तब छोड़ गए 
 इस बेगाने शहर में, 
कौन था मेरा पर 
तुम भी बेगानों की तरह मुंह मोड़ गये।

No comments:

Post a Comment