Wednesday, 16 January 2019

Hindi-sahayri-post-8

तेरी साँसों से मिलकर तेरी खुशबू बन जाऊ,  
फासले न रहें तेरे मेरे दरमियाँ, 
मैं मैं न रहूँ बस तू ही तू बन जाए....


मोहब्बत की कसम मोहब्बत के पैमाने पर 
मोहब्बत को मोहब्बत से तोला है 
 मोहब्बत से देख लो जनाब 
हमने मोहब्बत का हर 
बोल मोहब्बत से बोला है

महोब्बत ने आज महोब्बत को महोब्बत से लुटा 
महोब्बत में आज फिर महोब्बत का दिल टूटा

  दस्तख़त लबों पे उसने........ 
 लबों से जो कर दिए फिर यूँ हुआ कि ..
उम्र भर को मैं उसकी जागीर हो गया 

तुम्हे अपने प्यार में इतना गुम करना चाहता हुँ 
 जब भी तुम आंखे बंद करो 
मेरे होने का एहसास हो तुम्हे

एक बात पुछू , 
इम्तहाँ लेते हो मेरे सब्र का..! 
 या सचमुच मेरी याद नही आती..!! 

Hindi Sahayri-sahayri-post-1
Hindi Sahayri-sahayri-post-2
Hindi Sahayri-sahayri-post-3
Hindi Sahayri-sahayri-post-4
Hindi Sahayri-sahayri-post-5
Hindi Sahayri-sahayri-post-6

No comments:

Post a Comment