Sunday, 3 February 2019

इतने बुरे तो नहीं थे

"कभी कभी गुस्सा मुस्कराहट से भी खास होता है 
क्यूंकि मुस्कराहट तो सबके लिए होती है मगर 
गुस्सा उन्हीं के लिए होता है जो खास होता है "



"इतने बुरे तो नहीं थे 
जितने इल्जाम लगाए लोगों ने 
कुछ किस्मत खराब थी 
कुछ लोगों ने आग लगाई थी "



"कोई आपको  रोकता है ,टोकता है और 
आपका वक़्त मांगता है तो 
किस्मत वाले हो आप 
क्यूंकि फ़िक्र करने वाले बहुत 
काम लोगों को मिलते हैं आजकल "

No comments:

Post a Comment