Tuesday, 5 February 2019

नफरतो कि इस दुनिया में चाह ढूँढता हूँ


नफरतो कि इस दुनिया में चाह ढूँढता हूँ 
 मै आज भी मोहोब्बत बेपनाह ढूँढता हूँ 
 भटकता मुसाफिर हूँ एक ये मेरी कहानी है 
 पहुंचा दे मंजिल तक वोह एक राह ढूँढता हूँ