Tuesday, 5 February 2019

उसने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया


उसने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया, 
कितने रिश्ते उसकी ख़ातिर यूँ ही तोड़ आया, 
कितने धुंधले हैं ये चेहरे जिन्हें अपनाया, 
कितनी उजली थी वो आँखें जिन्हें छोड़ आया