Friday, 1 February 2019

sahayri in hindi

तमन्ना है मेरे मन की हर पल साथ तुम्हारा हो,
जितनी भी साँसें चले मेरी हर साँस पर नाम तुम्हारा हो।

**सारी रात तुम्हारी यादों में खत लिखते रहे...** ✍🏼👈🏼 **
पर दर्द ही इतना था की अश्क़ बहते रहे और अल्फ़ाज़ मिटते रहे...**

क्यों बार बार पूछते हो मोहब्बत की मंजिल,
कहा ना आखरी साँस तक बस तेरे हैं।। ❣️❣️❣️❣️

** लपेट ली है मैंने तेरे अहसास की चादर,
 आज तेरी यादों की शीतलहर चल रही है ... *​​༺♥༻​​*


No comments:

Post a Comment