Saturday, 9 March 2019

hindi sahyri

hindi sahyri

कुछ दिनों से जिंदगी मुझे पहचानती नहीं 
ऐसा लग रहा है ये मुझे जानती नहीं 

No comments:

Post a Comment