Saturday, 9 March 2019

hindi sahyri


मजाक है क्या 
सच्ची मोहब्बत भुला कर 
तन्हाई में जीना 

No comments:

Post a Comment