Sunday, 10 March 2019

Sad Sahayri


बहुत रोकता हूँ 
फिर भी 
आँखों से निकल ही 
आते हो 

No comments:

Post a Comment