Saturday, 9 March 2019

sad sahyri in hindi

sad sahyri in hindi

दिल और फूल दोनों एक जैसे हैं 
जरा सी तकलीफ दो मुरझा जाते हैं 

No comments:

Post a Comment